Childrens Day Speech in Hindi - सरल भाषा में।

Childrens Day Speech in Hindi

दोस्तों आज हम children day के उपर आपको एक speech देने वाले है जो कि आपको बहुत पसंद आएगी और आप इसे किसी भी कार्यक्रम मे सुना सकते हैं लेकिन सबसे पहले ये जान लेते हैं childrens day क्यों बनाया जाता है फिर देखेंगे कि children day कब मनाया जाता है children day का इतिहास क्या है और उसके बाद children day speech in Hindi में कैसे बोलते है।


Childrens Day को हिन्दी मे क्या कहते हैं?

Childrens day को हिन्दी में "बाल दिवस" कहा जाता है।


Childrens day कब मनाया जाता है?

14 नवम्बर के दिन Childrens day मनाया जाता है। 



Childrens day क्यो मनाया जाता है?


हर वर्ष बड़े उत्साह के साथ 14 नवंबर को बाल दिवस भारत में मनाया जाता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि 14 नवंबर को ही क्यों बाल दिवस मनाया जाता है और क्या पूरी दुनिया में भी children day का सेलिब्रेशन 14 नवंबर को ही होता है चलो इस पोस्ट के माध्यम से जानते हैं।

भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू को बच्चे प्यार से चाचा नेहरू कहकर बुलाते थे क्योंकि सभी बच्चे उनका सम्मान करते थे और उनसे प्यार भी बहुत करते थे चाचा नेहरू यानी पंडित जवाहरलाल नेहरू बहुत सा समय बच्चों के बीच ही बिताना पसंद करते थे।

भारत के आजादी के बाद बच्चों और युवाओं के लिए चाचा नेहरू ने काफी सारे अच्छे काम किए जब प्रधानमंत्री बने तो उनकी सबसे पहली प्राथमिकता थी बच्चों की शिक्षा युवाओं के विकास और रोजगार को बढ़ावा देने के लिए उन्होंने देश में विभिन्न शैक्षिक संस्थानों जैसे इंडियन इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी, ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंसेज, ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट की स्थापना करी।

पंडित जवाहर लाल नेहरू ने देश को आधुनिक बनाने में अहम भूमिका निभाई उन्होंने पंचवर्षीय योजनाओं का शुभारंभ भारत में उद्योग के एक नए युग की शुरुआत करी इस प्राइमरी एजुकेशन के साथ ही साथ छोटे बच्चों को मरने से बचाने के लिए उनकी स्कूलों में दूध के साथ मुफ्त भोजन को भी भिजवाना शुरू किया जाता था कि बच्चे देश का भविष्य है केवल सही शिक्षा देखभाल और विकास के रास्ते पर चला कर बच्चों को एक नया और अच्छा जीवन प्रदान किया जा सकता है।




Children day का इतिहास क्या है?


पंडित जवाहरलाल नेहरु की मृत्यु के बाद उनको सम्मान देने के लिए उनके जन्मदिन की तिथि यानी 14 नवंबर को Childrens Day के रूप में मनाया जाता है परंतु क्या आप जानते है कि भारत के आजादी के बाद और 1964 से पहले चिल्ड्रन डे 20 नवंबर को मनाया जाता था ऐसा क्यों आइए जानते हैं।

वर्ष 1925 में children day कि नींव रखी गई थी सन 1953 में children day को विश्व भर में मान्यता प्राप्त हुई 20 नवंबर को मनाया जाने लगा लेकिन ऐसी कई देश है जो children day को अलग-अलग दिनों पर मनाते हैं जैसे कि 1950 से बाल संरक्षण दिवस पर कई देशों में चिल्ड्रन डे मनाया जाता है जिसे world childrens day भी कहते हैं।

यह पढ़े: Beti Bachao Beti Padhao Essay in Hindi

भारत में पहला childrens day मनाया गया था वर्ष 1959 में जवाहरलाल नेहरू की मृत्यु हो जाने के बाद 14 नवंबर यानी उनकी जन्मदिन की तिथि को children day के रूप में मनाया जाने लगा।

दुनिया में कई देश आज भी 20 नवंबर को ही childrens day मनाते हैं यह दिन बच्चों के बेहतर भविष्य और उनकी मूल जरूरतों को पूरा करने की बात याद दिलाता है और साथ ही देश के लिए पंडित जवाहरलाल नेहरू के योगदान और शांति प्रयासों के लिए उनको सम्मान देने के लिए भारत में 14 नवंबर को Childrens Day मनाया जाता है।




Childrens Day Speech in Hindi


दोस्तों हम आपको children day के ऊपर एक speech दे रहे हैं जो आपको जरूर पसंद आएगी

मेरे सभी आदरणीय अध्यापको को, मेरे से बड़े सभी आगंतुकों को, और मेरे सभी मित्रों को मेरा सादर प्रणाम..!

जैसे की आप सभी जानते है की आज बाल दिवस है, बाल दिवस क्यों मनाया जाता है? ये सब बातें हमें जरूर जाननी चाहिए।

बाल दिवस का दिन एक महत्वपूर्ण दिन है बच्चों को सभी लोग पसंद करते हैं छोटे छोटे बच्चे मासूम होते हैं उन्हें अपने भविषय को लेकर कोई चिंता नहीं होती है। उनका काम सिर्फ खेलना कूदना होता है और साथ में पढ़ाई करते हैं।

बच्चे प्रत्येक घर की रौनक होते हैं बिना बच्चों के घर सुना होता है। बच्चे ही होते हैं जो बड़े होकर महान कार्य करते हैं। बच्चे ही बड़े होकर महान हस्ती होती हैं, बच्चे एक मिट्टी का घड़ा होते हैं जिसे किसी भी प्रकार से आकार दिया जाता जा सकता है।

बच्चों के मन को जिस प्रकार से चाहों मोड़ा जा सकता हैं बस किसी भी प्रकार से इसलिए बोला जाता है की प्रत्येक बच्चों को अच्छे संस्कार दिये जाने चाहिए अगर बच्चे बचपन से ही अच्छे संस्कार में जिये तो उन्हे महान बनने से कोई नहीं रोक सकता है।

बच्चों का बाल काल ही उसका भविष्य निर्धारित करता है बाल दिवस (children day) के दिन बच्चे अपने चाचा जी पंडित जवाहर लाल नेहरू जी को श्रद्धांजलि देते हैं, इस दिन पंडित जवाहर लाल नेहरू जी का जन्म दिन होता है जिसे प्रत्येक विद्यालय में बच्चो द्वारा मनाया जाता है।

जवाहर लाल नेहरू जी भारत के प्रथम प्रधानमंत्री थे वे बच्चों से बहुत प्यार करते थे उन्होने बच्चो के लिए कई नियम लागू किए थे चाचा जी आज हमारे बीच नहीं है लेकिन प्रत्येक वर्ष बाल दिवस के दिन पंडित जवाहर लाल नेहरू जी का जन्मदिन मनाया जाता है बच्चो को पढ़ाओ जितना पढ़ा सकों यही आगे चल कर हमारे भारत का नाम रोशन कर सकते हैं।

एक बच्चा भी अगर महान कार्य में लग जाता है तो उसके पीछे बहुत से लोग आपनी राह बदल कर उस महान व्यक्ति के पीछे हो जाते हैं यदि आपको यकीन नहीं होता तो महान आत्मा महात्मा गांधी जी का जीवन पढ़ लीजिये इन्होने भारत के लिए कई महान कार्य किये है। 


दोस्तों आशा करता हूँ आपको Childrens Day Speech in Hindi को पढ़ कर Childrens Day का इतिहास पता चल गया होगा और Childrens Day क्यों बनाया जाता है इस बारे में भी आपको समझ आगया होगा यदि यह पोस्ट आपको पसद आयी तो इसको आगे शेयर जरूर करे। 
Childrens Day Speech in Hindi - सरल भाषा में। Childrens Day Speech in Hindi - सरल भाषा में। Reviewed by Priyank Bagle on September 06, 2020 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.